Republic Day Hindi Poems India

Gantantra Divas Hindi Poems

Republic Day i.e Gantantra Divas in on 26 January 2016. Republic Day Hindi Kavita i.e Hindi Poems are very famous in India on the 26 January Republic Day of India. People of India send this poems to friends And some Students and kids use this kavita for delivering Speech in their school and colleges. So we Made Hindi Collection of 26 January Hindi Kavita for you. Enjoy the great collection and let us know your favourite Hindi Kavita write in Comments below this Gantantra Divas Kavita in Hindi post. Poems on Gantanra Divas in Hindi for students and kids.

विश्व में नाम था नाम रहेगा भारत का सदा सम्मान रहेगा . जिन शहीदों ने जान लुटाई उनका लबों पर नाम रहेगा . परचम हमारा प्यारा तिरंगा दुनिया में ऊंचा निशान रहेगा फौजी हमारे है वीर सिपाही देश इनके हाथों महफूज़ रहेगा . देवता के तुल्य है किसान यहां के कोई अब ना भूखा इंसान रहेगा खुशहाली देश की क्या खूब जवानी भारत अब विश्व का सिरमौर रहेगा!

Gantantra Divas Kavita in Hindi

ताकतवर बहुत है यह गणतंत्र I बदल देता है यह राज्य तंत्र I कमजोर नहीं शक्तिशाली है यह , है सत्ता परिवर्तन का सहज यह मंत्र I संविधान देता है सबको हक़ जीने का I अवसर शाशन हेतु साठ महीने का I जनता बिठाती है सर आँखों पर लेकिन , बदले में चाहती है शाशन करीने का I गणतंत्र दिवस पर सभी को गर्व है I देश का यह सर्वोत्तम पर्व है I समान अधिकार देता है नागरिकों को , खुली हवा खुली आँखों का ये स्वर्ग है!

आन बान शान हो गुमान माटी का जिसे,
देशभक्ति वाला ही तूफान आज दीजिये।
एक हाथ गीता तो है विनती हमारी माता,
दूजे हाथ हमें कुरान आज दीजिये।
शस्य श्यामला चुनर धानी ओढ़े माटी सदा,
देश के लिए मरूँ अरमान ऐसा दीजिये।
मज़हब जाति भाषा क्षेत्र की दीवार न हो,
मेरी माता ऐसा हिंदुस्तान हमें दीजिये।
जब जब लूँ जनम यही देश ही मिले,
यही माता मुझे वरदान यही दीजिये।

Republic Day Hindi Kavita

During delivering Republic Day Speech various poems are used in the speech. Hindi Kavita are quite famous because they touch heart of people and burn fire inside them. Gantantra Divas Kavita collection is collected for you to share or send to friends and family. Also it is really going to be helpful in the Speech to catch the attention of divine audience!

Gantantra Divas Hindi Poem Republic Day Poem

Kaas Koi Ham Se Puch Leta Ke Tum Bhi Pyar Karte Ho

Dil Me Koi Muhabbat He Ke Ase Hi Aah Bhrte Ho

Kasam Se Ham Unhe Kewal Sach Hi Batate

Jo Puch Lete Wo

Hamare Dil Me Kewal Watan Basa He,

Ashiyana Deta He Jo.

हरी नीली लाल पीली
बड़ी बड़ी तेज़ रफ्तार मोटरें
और उनके बीच दबा,
सहमा, डरा सा
आम आदमी

हरे भरे लहराते बड़े बड़े
पेडो के नीचे बिखरी पन्निया
बारिश की प्रदुषण धुली बूँदें
आँखों से बरसती

सड़क पर चाय के ठेले पर
वही बुढ़िया और
चाय पहुचता
वही छोटू

स्कूल से निकलता अल्हड, मस्त
किल्कारिया भरता बचपन
और पास ही सड़क पर
भीख मांगते नन्हे,
असमय बड़े हो चुके
छोटे बच्चे

पाँच सितारा अस्पताल का
उद्घाटन करते प्रधान मंत्री
की तस्वीर को घूरती
सरकारी अस्पताल में
बिना इलाज मरे शिशु की लाश

और इन सबको
कर उपेक्षित
विकास के दावो की होर्डिंग निहारता मैं
मन में दृढ़ करता चलता विश्वास
की हाँ २०२० में

हम विकसित हो ही जाएँगे
दिल को बहलाने को ग़ालिब………..

–मयंक सक्सेना

This Republic Day you are surely going to use this Republic Day Hindi Poems. Let us know your Divine collection of Poems which is very Unique to share write in the comments below. We Hope you Enjoyed Republic Day Poems in Hindi, Share with your friends and Indian People. Happy Republic Day!

10 Comments

Add a Comment
  1. I have liked this poem

  2. This poem indicate the love for a democratic country.This poem is very nice even though its the poem for our nation

  3. I like this kavita and I am very happy to read this kavita.

  4. very nice poem . But we should make changes

  5. good realy inspiring poem

  6. Very nice poem

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

India :: Republic Day 2016 Celebration :: India Republic Day © 2015